मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

सोमवार, 21 सितंबर 2020

प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना से मिल रहा स्ट्रीट वेंडर्स को लाभ : योजना का लाभ देने में सुकमा कर रहा बेहतर कार्य


सुकमा, प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना के अन्तर्गत शहरी पथ विक्रेताओं ( स्ट्रीट वेंडर्स) को अपने व्यवसाय को बेहतर करने के लिए बैंक से आसान तरीके से ऋण दिया जा रहा है। लॉकडाउन के दौरान बहुत से शहरी पथ विक्रेताओं को आर्थिक नुकसान हुआ था, उनके आर्थिक स्तर को मजबूती देने और अपने व्यवसाय को पुनः गति प्रदान करने के उद्देश्य से इस योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। गत दिवस सुकमा नगरपालिका प्रशासन द्वारा जिले के स्ट्रीट वेंडर्स को इस योजना का लाभ दिया गया।  प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना के तहत पथ विक्रेताओं को 10 हजार रुपए का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। इस स्कीम के अन्तर्गत ऋण प्राप्त करने वाले विक्रेताओं को भारत सरकार द्वारा ब्याज दर पर 7 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी।

सुकमा नगरपालिका के पथ विक्रेता हो रहे लाभान्वित
     प्रधानमंत्री स्व-निधि योजना के अन्तर्गत सुकमा नगरपालिका क्षेत्र के 11 पथ विक्रेताओं को 10 हजार की अनुदान राशि सीधे उनके बैंक खाते में स्थानांतरित की गई है। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के सिटी मिशन प्रबंधक श्री रोहित वर्मा ने बताया कि सुकमा क्षेत्र में इस योजना के लिए 66 पथ विक्रेताओं का लक्ष्य मिला है जिसमे अब तक कुल 32 आवदेन स्वीकृत किए जा चुके हैं। वहीं अब तक 22 स्ट्रीट वेंडर्स को अनुदान राशि की स्वीकृति मिल चुकी है जिसमे 11 हितग्राहियों को राशि का भुगतान किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि सुकमा क्षेत्र में बहुत से स्ट्रीट वेंडर्स हैं जो छोटी मोटी दुकान लगाकर अपना व्यवसाय करते हैं। लॉकडाउन के दौरान उन्हें आर्थिक नुकसान हुआ था। इस योजना से मिलने वाली अनुदान राशि से अब उन्हें अपना व्यवसाय पुनः प्रारम्भ करने में सहायता मिलेगी। इस योजना का लाभ वेंडर कार्ड धारक पथ विक्रेताओं के साथ ही उन विक्रेताओं को भी मिलेगा जिनके पास वेंडर कार्ड नहीं है। ऐसे विक्रेताओं को योजना अन्तर्गत एलओआर प्रमाण पत्र प्रदान कर योजना का लाभ दिया जाएगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें