मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

सोमवार, 21 सितंबर 2020

उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा ने किया तोंगपाल पशु चिकित्सालय का उद्धघाटन


  • हितग्राहियों को बटेर एवं चेक देकर किया लाभान्वित

सुकमा ! छत्तीसगढ़ के उद्योग एवं आबकारी मंत्री श्री कवासी लखमा ने आज तोंगपाल  के नवीन पशु चिकित्सालय भवन तोंगपाल का उद्घाटन किया। इस अवसर पर बस्तर विकास प्राधिकरण अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल, जिला पंचायत सदस्य श्रीमती बेनमती ठाकुर एवं तोंगपाल के सरपंच श्री मदन नाग अन्य जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

सुकमा जिले में चलाए जा रहे बैकयार्ड कुक्कुट पालन एवं बटेर पालन योजना की प्रशंसा करते हुए मंत्री श्री लखमा ने कहा कि इस योजना से ग्रामीण महिलाएं आर्थिक गतिविधियों से जुड़कर आत्म निर्भर बन रहे हैं। उद्घाटन कार्यक्रम में श्री लखमा के द्वारा स्व-सहायता समूहों की 50 महिलाओं को बटेर पालन योजना के तहत बटेर एवं दाना का वितरण किया गया। उन्होंने कहा कि कुक्कुट पालन एवं बटेर पालन योजना महिला स्व-सहायता समूहों के लिए अच्छी आमदनी प्राप्त कर आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ बनाने के साथ ही महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने मे सहायक है। उन्होंने योजना का लाभ लेने वाले हितग्राहियों को बटेर के अच्छे रख रखाव के लिए सुझाव देते हुए शुभकामनाएं दी।

इसी तारतम्य में नर बकरा वितरण योजनान्तर्गत हितग्राहीयों को 4000 रूपये का चेक प्रदाय किया गया। इसके साथ ही मादा वत्सपालन योजना के अंतर्गत कृत्रिम गर्भाधान से उत्पन्न मादा वत्सों के भरण पोषण हेतु चार महिला हितग्राहियों को 15000 रुपये का चेक श्री लखमा ने प्रदान किया। उन्होंने कार्यक्रम में उपस्थित सभी पशुपालकों एवं ग्रामीणों को बधाई देते हुए छत्तीसगढ़ शासन द्वारा चलायी जा रही योजनाओं का लाभ ले कर अपनी आजीविका को बेहतर बनाने के लिए प्रोत्साहित किया।

बस्तर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री लखेश्वर बघेल ने अपने उद्धबोधन मे कहा की मुर्गीपालन व बकरा पालन के लिए शेड बनाने हेतु प्रस्ताव बस्तर विकास प्राधिकरण को भेजें जिसे त्वरित स्वीकृति की कार्यवाही की जाएगी।

 इस अवसर पर पशु चिकित्सा विभाग के अधिकारी डॉ एस.जहीरुद्दीन एवं  विभागीय कर्मचारियों सहित ग्रामीण, पशुपालक और जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें