मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

मंगलवार, 9 जून 2020

मुख्यमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से निजी क्षेत्र की पहली फ्रोजन फूड इकाई ’गोल्ड’ का किया शुभारंभ


कोरोना काल में जब लोगों का रोजगार छूट रहा है, वहीं प्रदेश में शुरू हुई एक नई फैक्टरी,
स्थानीय लोगों को मिला रोजगार: श्री भूपेश बघेल
    रायपुर, मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने यहां अपने निवास कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से छत्तीसगढ़ में निजी क्षेत्र की पहली फ्रोजन फूड इकाई ’गोल्ड’ का शुभारंभ किया। यह इकाई रायपुर के उरला क्षेत्र के बोरझरा में स्थित है। गोयल ग्रुप द्वारा प्रारंभ की गई इस इकाई में शाकाहारी फूड प्रोडक्ट तैयार किए जा रहे हैं।
    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि कोरोना काल में जब लोगों का रोजगार छूट रहा है, प्रदेश में एक नई फैक्टरी शुरू हुई, जिसमें स्थानीय लोगों को रोजगार मिला है। श्री बघेल ने इस अवसर पर गोयल ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन श्री सुरेश गोयल सहित ग्रुप से जुड़े सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब इस फैक्ट्री के उत्पादों का छत्तीसगढ़ में और छत्तीसगढ़ के बाहर देश-विदेश के लोग उपयोग करेंगे तो उन्हें छत्तीसगढ़ की माटी की सोंधी महक का अहसास होने लगेगा।
    मुख्यमंत्री श्री बघेल वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बोरझरा स्थित इस इकाई में उपस्थित लोगों से रूबरू हुए, जहां गोयल ग्रुप ऑफ कंपनीज के चेयरमैन श्री सुरेश गोयल, विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा सहित ग्रुप के सदस्य और कर्मियों से बातचीत की। मुख्यमंत्री ने फैक्ट्री में काम कर रही लक्ष्मी निषाद और भूमिका ठाकुर से बात की। उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया कि कोरोना काल में उन्हें अपने गांव के पास ही काम मिला है, जिससे काफी राहत मिली है।
    गोयल समूह के मैनेजिंग डायरेक्टर श्री नरेन्द्र गोयल ने बताया कि यह छत्तीसगढ़ का पहला फ्रोजन फूड उद्योग है। इसके खाद्य उत्पाद शत प्रतिशत शुद्ध और शाकाहारी है। इसमें शाकाहारी उपभोक्ताओं को नए विकल्प मिलने लगेंगे । साथ ही इस उत्पाद को बनाने में किसी भी प्रकार के प्रिजरवेटिव केमिकल एवं आर्टिफिशियल कलर का उपयोग नहीं किया गया है । उन्होंने बताया कि जहां इस उद्योग में 60 प्रतिशत महिलाओं को रोजगार दिया गया है वहीं काम-काज के सुचारू संचालन के लिए उनकी स्वच्छता तथा सुरक्षा आदि के लिए पर्याप्त प्रबंध किए गए हैं। वहां कार्यरत लोगों के लिए सेनेटाईजर, मास्क की व्यवस्था के साथ उन्हें फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है।  
    गोयल ग्रुप के डायरेक्टर श्री नरेन्द्र गोयल और श्री संदीप गोयल इस अवसर पर मुख्यमंत्री निवास में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने फैक्ट्री के उत्पाद लांच किए और ब्रोशर का विमोचन किया। इस फ्रोजन फूड इकाई में आलू पराठा, लहसुन-चीज नान, वेज सीक कबाब, पपीता हलवा और सेवई खीर सहित कई उत्पाद तैयार किए जा रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें