मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

रविवार, 10 मई 2020

सौभाग्य योजना से बैगा जनजाति का घर हुआ रोशन

गांव में बच्चे सोलर होम लाईट के माध्यम से कर सकेंगे पढ़ाई
      राजनांदगांव।कोविड-19 के कारण लॉकडाउन अवधि के दौरान नवीन एवं नवीनकरणीय ऊर्जा के शेष कार्या को भारत सरकार द्वारा छूट प्रदाय किया गया है। सुदूर वनांचल क्षेत्रों में निवासरत शेष बचे हुए परिवारों के घरों में सोलर होम लाईट संयंत्र प्रदान और स्थापित कर जिले को शत-प्रतिशत विद्युतीकरण किया गया। जिले के गांवों में पेयजल व्यवस्था के लिए स्थापित सोलर ड्यूल पंपों को तथा आपातकालीन बिजली प्रदाय करने के उद्देश्य से लॉकडाउन अवधि में लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए अलग-अलग क्षेत्रों के लिए नियुक्त कलस्टर टेक्नीशियन के माध्यम से सतत् रूप से संचालन, संधारण किया जा रहा है। ग्रामवासियों को पेयजल एवं ग्रामों में स्थापित सौर संयंत्र के माध्यम से प्रकाश व्यवस्था उपलब्ध कराया गया है।
      क्रेडा ऊर्जा विभाग के महत्वपूर्ण सौभाग्य योजना के अंतर्गत राजनांदगांव जिले के सुदूर वनांचल दूरस्थ गांवों और मजराटोलों में निवासरत बैगा जनजातियों को प्रकाश व्यवस्था उपलब्ध कराने के लिए सोलर होम लाईट के माध्यम से विद्युतीकरण का कार्य किया गया है। रहवासियों के प्रत्येक परिवार को 5 नग एलईडी लाईट, एक नग फेन एवं मोबाईल चार्जिंग, टीवी कनेक्शन साकेट प्रदान कर लाभान्वित किया गया है। इन क्षेत्रों मेें निवासरत 852 परिवार लाभान्वित हो रहे हैं। साथ ही गांव में निवासरत परिवार के बच्चों को सोलर होम लाईट के माध्यम से पढ़ाई करने में सहायता भी मिली है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें