मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

शनिवार, 16 मई 2020

राजनांदगांव : कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने राजनांदगाँव जिले की सीमा पर प्रवासी यात्रियों के अत्यधिक दबाव एवं संक्रमण की संभावना को देखते हुए मुख्य सचिव को लिखा पत्र

राजनांदगांव। कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने राजनांदगाँव जिले की सीमा पर प्रवासी यात्रियों के अत्यधिक दबाव एवं संक्रमण की संभावना को देखते हुए मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल को पत्र लिखा है। राजनांदगांव जिले की महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश के साथ लंबी सीमा लगती है। जिले में कुल 6 चेक पोस्ट स्थित है, जिसमें मुख्यतया बागनदी चेक पोस्ट में वाहनों का आवागमन अधिक होता है। बागनदी चेकपोस्ट राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 6 (मुंबई से हजीरा) में स्थित है। इस चेक पोस्ट में प्रतिदिन अनुमानित 10 हजार से 15 हजार लोग प्रवेश कर रहे हैं, विगत तीन-चार दिनों में ही इनकी संख्या बहुत अधिक बढ़ी है, भविष्य में इनकी संख्या और अधिक बढऩे की संभावना है। मेरे संज्ञान में यह आया है कि महाराष्ट्र और गुजरात परिवहन विभाग की बसों एवं उन राज्यों से आने वाले ट्रकों के माध्यम से बड़ी संख्या में यात्रियों को बागनदी चेक पोस्ट के समीप उतार दिया जाता है, जिससे लगातार बागनदी चेक पोस्ट पर हजारों लोगों की भीड़ एकत्र हो रही है, जिससे राजनांदगाँव जिले में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। सीमा पर आने वाले यात्री छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार, उड़ीसा, पश्चिम बंगाल के निवासी है। जिसमें केवल 20 प्रतिशत यात्री ही छत्तीसगढ़ के निवासी हैं इन प्रवासी यात्रियों के सुरक्षित परिवहन हेतु संबंधित राज्य सरकारों के साथ समन्वय की आवश्यकता है। इन प्रवासी यात्रियों के परिवहन हेतु बड़ी संख्या में बसों की आवश्यकता होगी, जिसका भार राज्य सरकार पर आएगा। उचित होगा कि अन्य राज्यों के निवासियों के परिवहन व्यय का भार संबंधित राज्य सरकारें वाहन करें कृपया उक्त संबंध में उचित कार्यवाही कर पर्याप्त संख्या में बस उपलब्ध कराए जाने का अनुरोध है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें