मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

शुक्रवार, 1 मई 2020

अन्य राज्य एवं अन्य जिले से आने वाले प्रवासी श्रमिकों एवं व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से अपने आने की सूचना संबंधित थाना एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी को देनी होगी

  • अनाधिकृत रूप से प्रवेश करने एवं सूचना नहीं देने पर होगी दण्डात्मक कार्रवाई
  • कलेक्टर ने अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों एवं व्यक्तियों की जानकारी : निर्धारित्र प्रपत्र में एकत्र करने के दिए निर्देश

          महासमुंद 01 मई 2020 ।भारत सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों एवं व्यक्तियों के एक राज्य से दूसरे राज्य जाने पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया गया है। ऐसी स्थिति में अत्यधिक संख्या में प्रवासी मजदूरों एवं व्यक्तियों के लौटने की सम्भावना है, जिससे ऐसे मंे नोवेल कोरोना वायरस (कोविड-19) के जिले में संक्रमण का खतरा बढ़ गया है। इस संबंध में छत्तीसगढ़ शासन द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं। इन निर्देशों के तारतम्य में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री सुनील कुमार जैन ने तथ्य को मद्देनजर जनहित एवं जनस्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए आदेश जारी किए हंै।
           जारी निर्देशों में कहा गया है कि अन्य राज्य एवं अन्य जिले से आने वाले प्रवासी श्रमिकों एवं व्यक्तियों को अनिवार्य रूप से अपने आने की सूचना संबंधित थाना एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी को देंगे। यदि उनके द्वारा ऐसा नहीं किया जाता है और अनाधिकृत रूप से प्रवेश करते हंै तो उनकेे विरुद्ध धारा 188 एवं आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 के अंतर्गत दण्डात्मक कार्रवाई की जा सकेगी। सभी ग्राम पंचायत एवं नगरीय निकाय किसी को भी अनाधिकृत रूप से प्रदेश नहीं दें। अनाधिकृत रूप से प्रवेश करने वाली की सूचना संबंधित थाना एवं अनुविभागीय दण्डाधिकारी को देेंगे। यह कार्रवाई नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्र के नोडल अधिकारी के माध्यम से किया जाएगा। प्रत्येक प्रवासी श्रमिक एंव व्यक्ति को 14 दिन के क्वारेंटाईन में अनिवार्य रूप से रखे जाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रत्येक ग्राम, नगर पंचायत, पालिका में बाहर स्थित स्कूल, सामुदायिक भवन या अन्य भवन को क्वारेंटाईन संेटर के लिए चिन्हाकित किया जाए। क्वारंेटाईन सेंटर में भोजन आदि की व्यवस्था ग्राम पंचायत, नगरीय निकाय एवं दानदाताओं के माध्यम से कराए जाने के निर्देश दिए गए हैं।
           राज्य शासन द्वारा राज्य से अन्य राज्यों में रोजगार की तलाश में गए व्यक्तियों, श्रमिकों के अपने निवास जिले में वापसी को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों एवं व्यक्तियों के संबंध में कार्रवाई कर उनकी जानकारी निर्धारित प्रपत्र में एकत्र किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। इसी तारतम्य में कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री सुनील कुमार जैन ने अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों एवं व्यक्तियों की जानकारी निर्धारित्र प्रपत्र में एकत्रित किया जाना सुनिश्चित करने जिला श्रम पदाधिकारी महासमुंद को निर्देश दिए हैं। उन्होंने अन्य राज्यों से आने वाले श्रमिकों एवं व्यक्तियों की कार्ययोजना एवं क्रियान्वयन के लिए ग्रामीण क्षेत्र एवं नगरीय क्षेत्र के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी से सम्पर्क एवं समन्वय स्थापित कर कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए कहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें