मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

रविवार, 10 मई 2020

जिले मे 86 क्वारेंटीन सेंटर के लिए नोडल अधिकारी और प्रभारी नियुक्त

  • कलेक्टर ने जारी किया आदेश
                जांजगीर-चापा 10 मई 2020 । कलेक्टर श्री जनक प्रसाद पाठक ने लाकडाउन के कारण अन्य राज्यो में फंसे जिले के श्रमिकों के वापस आने की संभावना को देखते हुए जिले में बनाए गए क्वारेंटीन सेंटर के लिए प्रभारी व नोडल अधिकारी नियुक्त कर दिए हैं। जारी आदेश के अनुसार आदिवासी विकास विभाग के द्वारा संचालित छात्रावासों को क्वारेंटीन भवन के लिए चिन्हांकित किया गया है। कवारेंटीन सेंटर से संबंधित अनुविभाग के अनुभागीय दण्डाधिकारी को अनुविभाग स्तर के नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी दी गई है। इसके अलावा तहसील स्तर पर तहसीलदा, विकासखण्ड स्तर पर मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद और नगरी निकाय स्तर के लिए नगर पालिका अधिकारी नोडल होंगे। संबंधित छात्रावास के अधीक्षक को प्रभारी अधिकारी और अन्य विभागों के अधिकारियों को क्वारेंटीन सेंटर का बनाया गया है।
               क्वारेंटीन सेंटर की साफ-सफाई, पेयजल व्यवस्था, शौचालय स्वच्छता आदि के लिए भी कर्मचारियो को तैनात करने के निर्देश दिए गए है। क्वारेंटीन सेंटर के नोडल अधिकारियों को सेंटर में रखे गए लोगों के संबंध में पूरी जानकारी पंजी में संधारित करने कहा गया है। भारत सरकार एवं स्वास्थ्य विभाग की एडवायसरी के अनुसार सोशल/फिजिकल डिस्टेंसिंग, मास्क लगाकर ड्यूटी करने आदि के संबंध में भी निर्देश दिए गए हैं। जारी आदेश में यह भी कहा गया है कि सेंटर के अंदर किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश निषेध रहेगा। महिला एवं पुरुषों के लिए अलग-अलग व्यवस्था होगी। कोरोना संक्रमण के संभावित लक्षण दिखने पर उस व्यक्ति को अन्य व्यक्तियों से अलग रखा जाएगा। शौचालय आदि के लिए बाहर जाने की अनुमति नहीं होगी। परिसर में ही महिला एवं पुरूषो के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था रहेगी। भोजन के लिए पत्तल व डिस्पोजल ग्लास का उपयोग किया जाएगा। भोजन के पश्चात इन डिस्पोजल सामग्रियों को डीप बरियल विधि से निष्पादन करने के निर्देश दिए हैं। क्वॉरेंटीन सेंटर में ड्यूटी कर रहे अधिकारियों कर्मचारियों को मास्क लगाने, सैनिटाइजर का उपयोग करने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए स्वयं को सुरक्षित रखने कहा गया है। क्वारेंटिन सेंटर में सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात किया जा रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें