• लॉक डाउन का कड़ाई के साथ परिपालन कराया जाये-कलेक्टर श्री वर्मा
  • आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश
दंतेवाड़ा 04 अप्रैल 2020 ।कोरोना वायरस कोविड-19 के संभाव्य प्रसार के नियंत्रण एवं बचाव के मद्देनजर घोषित लॉक डाउन का कड़ाई से अनुपालन कराया जाये। लोग घरों से बेवजह बाहर नहीं निकलें। आवश्यक वस्तुओं की जरूरत या अत्यावश्यक सेवाओं के लिये ही घर से बाहर जायें। इस दिशा में सभी सम्बन्धित अधिकारियों द्वारा पहल किया जाये। उक्त निर्देश कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने कलेक्टोरेट में आयोजित जिला स्तरीय कोर कमेटी की बैठक के दौरान अधिकारियों को दिया। बैठक में सीईओ जिला पंचायत श्री सच्चिदानंद आलोक, अपर जिला दंडाधिकारी श्री अभिषेक अग्रवाल, सीएमएचओ डॉ एसपी शांडिल्य, सिविल सर्जन डॉ एमके नायक और विभिन्न दायित्वों के लिए नियुक्त नोडल अधिकारी तथा जिले में पदस्थ एसडीएम मौजूद थे।
       कलेक्टर श्री टोपेश्वर वर्मा ने लॉक डाउन के दौरान नगरीय ईलाकों में लोगों की अधिक आवाजाही को ध्यान रखते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि लोगों को घरों पर ही सुरक्षित रहने की समझाईश दी जाये। लोग बहुत जरूरी हो तो ही घर से बाहर जायें। आवश्यक वस्तुओं तथा अत्यावश्यक सेवाओं के लिये किसी भी प्रकार से रोक नहीं है, लेकिन बेवजह घर से बाहर निकलने वाले लोगों के विरुद्ध कार्रवाई किया जाये। कलेक्टर श्री वर्मा ने इस दिशा में राजस्व, पुलिस विभाग सहित नगरीय निकाय के अधिकारियों-कर्मचारियों के द्वारा समन्वय कर कार्य करने कहा। वहीं लॉक डाउन का जानबूझकर उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई किये जाने का निर्देश कार्यपालिक दण्डाधिकारियों को दिया। कलेक्टर श्री वर्मा ने लॉक डाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं खाद्यान्न, अनाज, फल-सब्जी इत्यादि की आपूर्ति सुनिश्चित करने पर बल देते हुए कहा कि लोगों को आवश्यक वस्तुओं की कमी नहीं हो, इस पर ध्यान दिया जाये। इस हेतु मांग और आपूर्ति पर सतत निगरानी रखी जाये और आवश्यक वस्तुओं के परिवहन के साथ मालवाहक ट्रकों को अनिवार्यतः अनुमति दी जाये। आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति के लिये जरूरत के अनुरूप समीपस्थ बस्तर जिले के अधिकारियों से भी समन्वय सुनिश्चित किया जाये। कलेक्टर श्री वर्मा ने जिले के उचित मूल्य दुकानों में दो महीने के खाद्यान्न भंडारण स्थिति की समीक्षा करते हुए इस दिशा में वाहनों की संख्या बढ़ाने और मजदूरों की व्यवस्था कर खाद्यान्न भण्डारण में अद्यतन प्रगति लाने कहा। उन्होंने उचित मूल्य दुकानों में खाद्यान्न वितरण के दौरान सामाजिक अलगाव सम्बन्धी निर्देशों का अनुपालन किये जाने का निर्देश अधिकारियों को दिया। बैठक में जरूरतमन्द लोगों को निःशुल्क राशन वितरण, बेघर-निसहाय लोगों को भोजन की सुलभता, बाहर के मजदूरों हेतु संचालित राहत कैम्पों में भोजन इत्यादि की व्यवस्था आदि की विस्तृत समीक्षा की गई।