राजनांदगांव। 21 अप्रैल 2020 । मंत्री श्रीमती भेंडिया ने वृद्धाश्रम में निवासरत बुजुर्गों से उनके स्वास्थ्य के संबंध में जानकारी ली और खान-पान पर विशेष ध्यान देने तथा कोरोना वायरस से बचाव के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने कहा। वृद्धा श्रीमती फुलबासन बाई सहित श्री नईस खान, श्रीमती शारदा साहू, श्री प्रेमलाल ने भी अपने स्वास्थ्य के संबंध में उन्हें जानकारी दी। मंत्री श्रीमती भेडि़या ने वृद्धजनों के शयन कक्ष, सिद्धार्थ सदन का भी निरीक्षण किया और कोरोना वायरस(कोविड-19) संक्रमण कीे रोकथाम एवं बचाव के लिए नियमित रूप से साफ-सफाई, हेण्डवॉश, हेण्ड सेनेटाईजर का उपयोग एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए कहा। बालिका गृह में उन्होंने वहां निवासरत बच्चियों से पढ़ाई के संबंध में जानकारी ली। बालिकाओं ने बताया कि लॉकडाउन की अवधि में सभी बच्चे खिलौने बनाना, नृत्य, संगीत सीखने के साथ ही पहाड़ा भी याद कर रहे हैं। मंत्री ने यहां भोजन कक्ष, रसोई कक्ष का भी निरीक्षण किया। महिला एवं बाल विकास की कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती रेणु प्रकाश ने बताया कि बाल कल्याण समिति राजनांदगांव के निर्णय के आधार पर राजनांदगांव, कबीरधाम और दुर्ग के जरूरतमंद बच्चों को इस बालिका गृह में आश्रय दिया गया है। यहां इनके कौशल उन्नयन के लिए सिलाई, कढ़ाई एवं अन्य कौशल विकास किए जा रहे हैं।
श्रीमती भेंडि़या ने शासकीय बाल संप्रेक्षण गृह का भी निरीक्षण किया और वहां निवासरत बच्चों को पढ़ाई पर विशेष ध्यान देने को कहा। इस अवसर पर बच्चों ने मंत्री श्रीमती भेंडिया को अपनी बनाई हुई पेंटिंग भी दिखाई। अधिकारियों ने बताया कि बालिका संप्रेक्षण गृह के लिए भी स्थान का चिन्हांकन कर लिया गया है। श्रीमती भेंडि़या शासकीय बौद्धिक मंद बालक-बालिकाओं के विशेष विद्यालय भी पहुंची और बच्चों के लिए बनाए गए कक्षा, भौतिक चिकित्सा कक्ष, पुस्तकालय, नर्सिंग कक्ष, रसोई कक्ष, स्पीच थैरेपी कक्ष, शयन कक्ष का निरीक्षण किया। इस दौरान संचालक समाज कल्याण श्री पी. दयानंद सहित महिला एवं बाल विकास विभाग तथा समाज कल्याण विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।