मुख्‍य समाचार

1 रायपुर। बच्चों के विकास मे प्रमुख भूमिका निभा रहा सजग कार्यक्रम : ऑडियो क्लिप के माध्यम से सुनाए जा रहे प्रेरक संदेश,रायपुर। मुख्यमंत्री की रेडियो वार्ता ’लोकवाणी’ की 12 वीं कड़ी का प्रसारण 8 नवम्बर को : लोकवाणी ’बालक-बालिकाओं की पढ़ाई, खेलकूद, भविष्य’ विषय पर केन्द्रित होगी,राजनांदगांव। नगरीय प्रशासन मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया 4 नवम्बर को राजनांदगांव जिले के दौरे पर रहेंगे मिशन अमृत योजना के तहत 8.5 करोड़ के विकास कार्यों का करेंगे लोकार्पण ,राजनांदगांव : उपायुक्त कृषि विभाग डॉ. सोनकर ने किया गोधन न्याय योजना के कार्यों का निरीक्षण : योजना की सफलता का मूल मंत्र गौठानों का सफल संचालन, राजनांदगांव। छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित राज्योत्सव में मुख्यमंत्री ने राजीव गांधी किसान न्याय योजना के तहत जिले के 1 लाख 65 हजार किसानों के खाते में 178 करोड़ रूपए की राशि अंतरित की

रविवार, 29 मार्च 2020

मजदूरों के लिए मास्क और सेनेटाइजर की व्यवस्था करनी होगी खेत मालिकों को

             राजनांदगांव ! कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री जयप्रकाश मौर्य ने खाद्यान्न, सब्जी, मसाले और अन्य उद्यानिकी फसलों के उत्पादन को जिले के भीतर एवं बाहर परिवहन करने की अनुमति दी है।
             इस संबंध में जारी आदेश में कहा गया है कि वर्तमान में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के बचाव के लिए जिले में धारा 144 और लॉकडाउन किया गया है। इस स्थिति में सब्जी फार्म में सब्जी व फल तोड़ने, पैकेजिंग करने एवं सब्जी फार्म में कार्य करने के लिए मजदूरों के आवागमन तथा किसानों द्वारा नियत व निर्धारित स्थान में लाने और कोल्ड स्टोरेज तक परिवहन में प्रशासन द्वारा रोका जा रहा है। जिससे फल और सब्जी का अभाव हो सकता है। इससे उत्पादों में अनावश्यक मूल्य बढ़ने का संकट उत्पन्न हो सकता है। साथ ही सब्जियों व फल का निष्पादन नहीं किए जाने से उसके सड़ने की स्थिति हो सकती है। जिससे अन्य समस्याएं भी उत्पन्न हो सकती है।
             कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने इन परिस्थितियो को ध्यान में रखते हुए निर्देश दिया है कि जिले के किसान अपने खेतों और परिक्षेत्रों में मजदूरी एवं दैनिक दर पर काम करने वाले श्रमिकों से कार्य ले सकते हैं। आदेश में यह भी कहा गया है कि कार्य के दौरान मजदूरों के लिए मास्क एवं हाथ धोने के लिए सेनेटाइजर और साबुन की व्यवस्था खेतों व परिक्षेत्रों के मालिकों को करनी होगी। यह भी सुनिश्चित करनी होगी कि सभी मजदूर कार्य के समय कम से कम एक मीटर की परस्पर दूरी बनाए रखें।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें