राजनांदगांव। कलेक्टर श्री जयप्रकाश मौर्य ने कल डोंगरगांव विकासखंड के धान उपार्जन केन्द्र तुमड़ीबोड़ में धान खरीदी की सघन जांच पड़ताल की है। उन्होंने उपार्जन केन्द्र में एक घंटे तक कम्प्यूटर में किसान पंजीयन, जारी टोकन, रकबा और धान खरीदी की जांच की। उन्होंने धान बेच चुके किसानों की रिपोर्ट भी देखी। उन्होने किसानों को टोकन जारी करने की प्रक्रिया के संबंध में बारिकी से पूछताछ भी की। कलेक्टर श्री मौर्य ने धान उपार्जन केन्द्र परिसर में कई गांवों के किसानों से चर्चा कर अनावारी और वास्तविक धान उत्पादन के बारे में भी जानकारी  ली। पुलिस अधीक्षक श्री बीएस धु्रव तथा जिला पंचायत राजनांदगांव की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती तनुजा सलाम भी उपस्थित थे। 
    श्री मौर्य ने धान उपार्जन केन्द्र के प्रभारी, समिति के सदस्यों और किसानो से गांवों के रकबा तथा धान उत्पादन के बारे में विस्तृत जानकारी ली। प्रभारी ने बताया कि धान उपार्जन केन्द्र तुमड़ीबोड़ के अंतर्गत आस-पास के 19 गांव आते हैं। इनमें खैरी, कोपेडीह, मचानपार, धौराभांठा, दीवानझिटियां, पेंडरवानी, जामसरार खुर्द, मलईडबरी, कोहका, ढाबा, नाथूनवागांव, बरहापुर, सिवनीखुर्द, बोदेला, पेटेश्री, आरगांव, आलेखुंटा, बाकल और तुमड़ीबोड़ शामिल है। इस साल इन गांवों के 2 हजार 377 किसानों ने धान बेचने के लिए पंजीयन कराया है।  प्रभारी ने बताया कि अभी तक 11 हजार 458 क्विंटल धान की खरीदी किसानों से कर ली गई है। धान उपार्जन केन्द्र तुमड़ीबोड क़े लिए प्रतिदिन एक हजार 571 क्विंटल धान खरीदने का लक्ष्य दिया गया है। अनेक किसानों ने धान खरीदी  के प्रतिदिन के लक्ष्य को बढ़ाने की मांग कलेक्टर से की। 
    इस अवसर पर जिला खाद्य अधिकारी श्री किशोर कुमार सोमावार, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के सीईओ श्री सुनील वर्मा, जिला विपणन अधिकारी श्री सौरभ भारद्वाज, सहायक खाद्य अधिकारी श्री पाढ़ी भी उपस्थित थे।